Tuesday, February 10, 2009

Comments of Readers !

You can read the comments of readers :













Dear Devesh,
I am really happy to see your efforts growing tall.May God enable you with vision, mission and dedication.
Help others wholeheartedly and God will reciprocate you with more and more.You have talent, urge for learning and a divine mission...you will have to devote yourself for the service of mankind. May God bless you.

प्रिय देवेश, प्रत्येक व्यक्ति की हस्तरेखाएँ अलग-अलग होती हैं. कीरो से लेकर काटकर तक जो भी कुछ पुस्तकों में लिखा गया है वह उनका निजी और उनके पूर्ववर्ती आचार्यों का अनुभव है. हम सबने इन विद्वानों को पढा है तो अगर इस ज्ञान से हम आगे बढ़ रहे हैं तो हम उत्तम कार्य कर रहे हैं . मुझे लगता है तुम्हारे कठिन श्रम ने तुम्हारी वह अंतर्दृष्टि जगह दी है . मुझे विश्वास है वह दिन भी आएगा जब किसी व्यक्ति के मार्गदर्शन के लिए तुम्हे न उसका हाथ देखना पडेगा और न ही उसकी जन्मकुंडली देखनी होगी . ईश्वर के संकेत को समझो और निष्ठां पूर्वक अध्ययन और सेवा में लगे रहो. शुभकामनाओं सहित .......

RAJESHWAR : ( Poet, writer, astrologer and palmist. Presently translating modern poetry from JAPAN.TWO Books released so far....One novel MUTTHI BHAR LADAI and another.Poetry Translation - KAVITA DESHANTAR CANADA. )


निर्झर'नीर said...
aapka vyaktitav prabhavit karta hai..

aap bahuaayami pritibha ke dhani hai..I wish all your dreams come true in your life as & when u c.

aapse milne ki khwahish gar poori hui to hath jaroor dikhayenge.


Shama said...
I surely will have read this article with lot more concentration..may be i can seek your guidance as well, if u have the time!!


Swatantra said...
Hey

Your Plamistry blog is amazing!! Great passion you have!!



Jyotsna Pandey said...
kuchh alag tarah ki jankaari ke liye dhanyawaad.

Jyotsna Pandey :( Industry: Arts, Location: Lucknow : Uttar Pradesh : India )


Pt.डी.के.शर्मा"वत्स" said...
बहुत ही बढिया जानकारी......
वास्तव में रिंग फिंगर जिसे कि अनामिका उंगली कहा जाता है, सूर्य ग्रह का प्रतिनिधित्व करती है.
अगर हाथ में यह उंगली तर्जनी से बडी हो तो ऐसे व्यक्ति अपने बुद्धि चातुर्य के बल पर जीवन में अत्यधिक उन्नति करते है.उनकी आत्मशक्ति विलक्षण होती है.

Pt.डी.के.शर्मा"वत्स : (Occupation: astrology, Location: ludhiana : punjab : India )



Smart Indian - स्मार्ट इंडियन said...
और अधिक जानने की उत्सुकता रहेगी...

Anurag Sharma : (Industry: Technology, Location: Pittsburgh (PA) - पिट्सबर्ग : पेन्सिल्वेनिया (संयुक्त राज्य अमेरिका) : United States )



दिलीप कवठेकर said...

मैने दोनो हाथों की उन्गलियों का मुआईना किया, तो एक रोचक बात सामने आई, जिसका निराकरण करें-

दांई हाथ में रिंग फ़िंगर लंबी है,मगर बांये हाथ में अंदर से देखें तो छोटी है, और बाहर से बराबर!!

Dileep : (Industry: Engineering, Occupation: Technical Consultant, Location: Indore : Madhya paradesh : India)


2 comments:

Hunga Dunga said...

Devesh,

This site is wonderful. As I scrolled down I discovered more and more gifts, to the eye, to the ear, to the heart. Thank you so much.

Phil Polizatto

truefriend said...

I really like your blog and you are really doing good work.Whatever remedies you told me,i followed them and I got benefit with that.you are superrr